शाला दर्पण क्या है? छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों के लिए इसके लाभ | What is Shaala Darpan? It’s Benefits for Students, Teachers & Parents

शाला दर्पण शिक्षा क्षेत्र में पारदर्शिता और दक्षता प्रदान करने के लिए भारत सरकार द्वारा शुरू किया गया शिक्षा क्षेत्र में सबसे तेजी से बढ़ने वाला पोर्टल है। इस पोर्टल का मुख्य उद्देश्य शिक्षा को बढ़ावा देना और इसे डिजिटल माध्यम से जोड़ना है। श्रीमती स्मृति ईरानी ने 2015 में शाला दर्पण पोर्टल का उद्घाटन किया था।

प्रत्येक राज्य का अपना शाला दर्पण पोर्टल हो सकता है, लेकिन सभी पोर्टलों का मुख्य उद्देश्य एक ही होगा, अर्थात भारत के शिक्षा क्षेत्र में पारदर्शिता प्रदान करना। वर्तमान में, राजस्थान सरकार ने शाला दर्पण पोर्टल लॉन्च किया है, जो राजस्थान के सभी स्कूलों को कवर करता है। इसी तरह, केंद्रीय विद्यालय ने देश के सभी केंद्रीय विद्यालयों के लिए केवी शाला दर्पण भी लॉन्च किया है।

शाला दर्पण माता-पिता, शिक्षकों और छात्रों को शिक्षा में अगला कदम उठाने के लिए एक डिजिटल मंच प्रदान करता है। शिक्षक इस पोर्टल पर छात्रों के प्रोफाइल का प्रबंधन कर सकते हैं और शैक्षणिक परिणाम बना सकते हैं। छात्र शाला दर्पण पोर्टल में लॉग इन कर सकते हैं और सूचनात्मक वीडियो के साथ समृद्ध वातावरण में सीख सकते हैं। माता-पिता इस पोर्टल का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं क्योंकि यह उन्हें स्कूल परिसर के अंदर कदम रखे बिना अपने बच्चों के शैक्षणिक प्रदर्शन पर नजर रखने की सुविधा प्रदान करता है।

यह भी पढ़ें: FreeJobAlert.com में SSC, Bank और Railway जॉब लिस्टिंग प्राप्त करें 2022

शाला दर्पण लॉगिन

shala darpan login

राजस्थान में स्कूल के शिक्षक, अभिभावक और छात्र पोर्टल पर लॉग इन करके शाला दर्पण राजस्थान पोर्टल पर पोर्टल का उपयोग कर सकते हैं। वे संबंधित स्कूल यूजर आईडी और पासवर्ड का उपयोग करके लॉग इन कर सकते हैं।

केन्द्रीय विद्यालयों के स्कूल शिक्षक, अभिभावक और छात्र स्कूल यूजर आईडी और पासवर्ड का उपयोग करके केवी शाला दर्पण पोर्टल पर लॉग इन कर सकते हैं। केन्द्रीय विद्यालयों में बच्चों के ऑनलाइन प्रवेश के लिए आवेदन करने के लिए केवी शाला दर्पण एक ऑनलाइन मंच है।

शिक्षकों के लिए शाला दर्पण पोर्टल के लाभ

Integrated Shala Darpan

 

शाला दर्पण एक सरकारी पोर्टल है जिसके माध्यम से शिक्षक छात्रों के अंक अपलोड कर सकते हैं और शैक्षणिक परिणाम तैयार कर सकते हैं। 2015 से पहले, परिणामों को संभालना मुश्किल था क्योंकि उन्हें फाइलों में रखा जाता था। कक्षा 1 से 12 तक के परिणामों को बनाए रखने का काम काफी व्यस्त है। जब प्रति कक्षा तीन से चार खंड होते हैं तो परिणामों को संभालना और भी कठिन होता है। शाला दर्पण परिणामों को ऑनलाइन अपलोड करने का प्रावधान करता है जो शिक्षकों को उचित शैक्षणिक रिकॉर्ड बनाए रखने में मदद करता है। पोर्टल ऑनलाइन रिकॉर्ड प्राप्त करना भी आसान बनाता है क्योंकि यह कुछ ही क्लिक दूर है।

यह भी पढ़ें: टीडीएस क्या है और क्यों काटा जाता है? | What is TDS & Why it is Deducted?

माता-पिता के लिए शाला दर्पण पोर्टल के लाभ

सभी माता-पिता अपने कार्य प्रोफ़ाइल और व्यस्त कार्य शेड्यूल के कारण अपने बच्चों को समय नहीं दे सकते हैं। शाला दर्पण पोर्टल माता-पिता के लिए अपने बच्चों के प्रदर्शन, असाइनमेंट, ग्रेड और अन्य गतिविधियों को ट्रैक करने और देखने के लिए उपयोग में आसान पोर्टल है। इस सरकार द्वारा अधिकृत पोर्टल के माध्यम से माता-पिता वह कर सकते हैं जो वे हमेशा से अपने बच्चों के लिए करना चाहते थे।

छात्रों के लिए शाला दर्पण पोर्टल के लाभ

छात्र स्कूलों की आत्मा हैं, चाहे वह निजी स्कूल से हो या सरकारी स्कूल से। शाला दर्पण कार्यक्रम विशेष रूप से छात्रों के लिए पोर्टल पर उपलब्ध विभिन्न वीडियो के साथ अपने ज्ञान को तेज करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। पोर्टल में सभी कक्षाओं के लिए बहुत सारे शैक्षिक वीडियो हैं, अर्थात कक्षा 1 से 12 तक।

पोर्टल में प्रिंट समृद्ध सामग्री जोड़ने का सरकारी दृष्टिकोण छात्रों के लिए सहायक है, और उन्हें उत्सुक बनाता है, और शाला दर्पण कार्यक्रम में उनकी रुचि को मजबूत करने में मदद करता है।